लाखों साल पहले भी क्या धरती पर उन्नत सभ्यताएँ मौजूद थीं Ancient Civilizations in Hindi

Ancient Civilizations in Hindi

Ancient Civilizations in Hindi:

21वीं सदी की यह पीढ़ी, अपनी उन्नति और विकास का पैमाना, इस बात से दर्शाती है कि आज हम चांद तक पहुंच गए हैं, और इस बात में कोई शक नहीं है कि आज का यह दौर पहले की तुलना में हर रूप से विकसित है। तेज रफ्तार, गाड़ियां बुलेट ट्रेन, गगनचुंबी इमारतें, चिकित्सा निर्माण यहां तक कि अंतरिक्ष और न जाने कितने ही ऐसे क्षेत्र है जहां इंसान ने अपनी बुद्धिमता के के झंडे गाड़े है। लेकिन क्या यह सब हमने अकेले किया है, इस पर कोई भी कहेगा कि हमारे पूर्वजों द्वारा किया हुआ ज्ञान है, जिसे हमने आगे बढ़ाया, और हमारी बात हमारी अगली पीढ़ी और भी आगे लेकर जाएगी। लेकिन क्या आपने कभी यह सोचा है कि हमारे पूर्वजों को सामाजिक निर्माण की यह कला आखिर किसने सिखाई? ऐसे में क्या यह संभव नहीं है कि हमारे पूर्वजों की भी पूर्वज रहे हो जिन का दिया हुआ ज्ञान कई पीढ़ियों का सफर तय करते हुए आज हम तक पहुंचा है। Ancient Civilizations in Hindi

दोस्तों आज हम आपको अपने इस पोस्ट में ऐसी ही सभ्यताओं Ancient Civilizations in Hindi के बारे में है बताने जा रहे हैं जिनसे दुनिया आज भी अनजान है, क्योंकि इतिहास के पन्नों पर इनका कोई भी ज़िक्र नहीं मिलता। लेकिन इनसे जुड़े सबूत कहीं ना कहीं यह साबित करते हैं कि, लाखों साल पहले धरती पर उन्नत सभ्यताएं मौजूद रही होंगी। हालांकि मुख्य इतिहासकार इनके वजूद से इनकार करते हैं, लेकिन इनकी छोड़ी हुई निशानियां किसी भी इतिहास की मोहताज नहीं है, यह हमें सोचने पर मजबूर करती है कि अगर लाखों साल पहले धरती पर बुद्धिमान प्राणी नहीं था तो यह अद्भुत निर्माण किसने बनाए होंगे?

अमेजन नदी की खोई हुई सभ्यता

अमेज़न नदी और इसके जंगल हमेशा से ही रहस्यों का भंडार रहे हैं, ऐसे मैं इस नदी के छोर पर कब क्या मिल जाए कोई नहीं जानता और हाल ही में हुई एक खोज इसका सबसे बड़ा उदाहरण है जब इन जंगलों में ऐसी ही खोई हुई सभ्यता मिली, जिसका पता इतिहास को भी नहीं था। और यह सभ्यता कितनी पुरानी है इसका अंदाजा अभी तक लगा नहीं जा सका। हालांकि इस सभ्यता Ancient Civilizations in Hindi की खोज अनजाने में हुई जिसके एक कारण थे बढ़ते शहरीकरण के चलते जंगलों की कटाई और तकनीकी क्रांति।

गूगल अर्थ(Google Earth)

जब इस सभ्यता की ऊपर से जंगलों का पर्दा हटा तब सभी लोग इस बात से अनजान थे कि वह किसी प्राचीन सभ्यता की जद में खड़े हैं लेकिन Google Earth की सेटेलाइट चित्रों ने कुछ और ही दर्शाया, जहां लगभग 2500 वर्ग किलोमीटर के इलाके में अजीब अजीब चित्र मैदान में बने हुए थे।  जिनमें कोई आकृति मानव रूपी थी, तो कोई जानवरों के जैसी वही कुछ ऐसी आकृतियां भी पाई गई जो किसी चीज से मेल नहीं खाती थी।  लेकिन वे रेखाएं इतने सटीक थी कि मानो उन्हें कोई स्केल की सहायता से बनाया गया हो और सबसे हैरान करने वाली बात यह थी, की यह निशान हुबहू पैरों की मशहूर नस्का लाइन(Nazca Lines) से मेल खाते थे। Ancient Civilizations in Hindi

दुनिया के 7 रहस्यमय स्थान जहाँ आपका जाना मना है

वही इस अनजान सभ्यता की खोज करते हुए वैज्ञानिकों ने यह भी दावा किया है, कि Google Earth के चित्रों के माध्यम से उन्हें लगभग 250 से भी ज्यादा नियोजित रास्ते, सिंचाई के लिए नहरें और पालतू जानवरों के बेड़ो के निशान भी मिले हैं। यह सभ्यता(ancient civilizations) कितनी पुरानी है और यह किस की जागीर है, यह तो किसी को नहीं पता। लेकिन वैज्ञानिक मानते हैं कि इनका इतिहास लाखों साल पुराना है, और अगर यह बात कहीं सही साबित होती है तो एक बार फिर से हम प्राचीन काल के ऐसे ही सभ्यता से भेंट करेंगे, जो आदम जमाने से भी पहले विकास और प्रगति का नमूना थी।

स्फिंक्स गीजा (Great Sphinx of Giza)

Great Sphinx of Giza

धरती के सबसे आकर्षक और रहस्यपूर्ण स्मारको में से एक गीजा पिरामिड के ठीक आगे बना हुआ स्फिंक्स, शोधकर्ताओं के लिए पिछले कई दशकों से पहेली बना हुआ है। स्फिंक्स का निर्माण कब और क्यों हुआ? यह तो कोई ठीक से नहीं जानता और ना ही इस के उम्र के बारे में कोई लिखित रिकॉर्ड मौजूद है। लेकिन कुछ लोग ऐसे हैं जो शायद इस प्रतिमा का पीछा छोड़ने को तैयार ही नहीं है। इस अद्भुत निर्माण पर वर्षो से काम कर रहे यूक्रेनी मुल्क के दो ऐसे ही शोधकर्ता हैं… Manichev Vjacheslav And Alexander G.Parkhomenko. जिन्होंने स्फिंक्स पर अध्ययन करते करते दुनिया के सामने ऐसे सिद्धांत रखे हैं, जिन पर यकीन करना तो मुश्किल हो सकता है, लेकिन इन्हें यूं ही नकार दिया जाए ऐसा संभव नहीं है। ये दोनों ही शोधकर्ता एक बात पर एकमत हैं कि स्फिंक्स की उम्र लगभग 800000 साल हो चुकी है। और इनका यह भी मानना है कि इंसानों के अस्तित्व में आने से पहले किसी युग में, धरती पर ऑक्सीजन भरपूर मात्रा में रही होगी ऐसा साबित हो चुका है जिसके चलते हमारी ही तरह एक दूसरे तरह की कॉन्प्लेक्स लाइफ यानी की जटिल जीवन स्वरूप में आया होगा। Ancient Civilizations in Hindi

शिव का रहस्यमई मंदिर, जिसे देख वैज्ञानिक भी हैं हैरान

ऐसे में क्या यह संभव नहीं है की इंसानों की खोपड़ी और शेर की धड़ वाली प्रतिमा स्फिंक्स इस बात का संकेत हो, कि किसी युग में ठीक ऐसी ही एक प्रजाति इस धरती पर आई थी। और लाखों सालों के लंबे अंतराल में यह प्रजाति मानव जैसे प्राणियों में परिवर्तित हो गई। और क्या पता इन विशालकाय पिरामिड का निर्माण भी इसी प्रजाति के द्वारा हुआ हो। क्या पता किसी जमाने में यह प्रजाति एक समुचित सभ्यता के रूप में गीजा पर राज करती हो।

तो दोस्तों आपको हमारा यह पोस्ट Ancient Civilizations in Hindi कैसा लगा कमेंट के माध्यम से हमे जरूर बताएं

If You Like My Post Then Share To Other People

1 COMMENT

  1. You are so cool! I don’t believe I’ve read anything like this before.

    So great to discover someone with a few original thoughts on this topic.
    Really.. many thanks for starting this up. This website is one
    thing that is needed on the internet, someone with some originality!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here