पानी पीने के फायदे और नुकसान Benefits of Drinking Water Tips in Hindi

पानी पीने के फायदे और नुकसान Benefits of Drinking Water Tips in Hindi

Benefits of Drinking Water Tips in Hindi: दोस्तों जब हमारा जन्म होता है तब हमारा शरीर 75% पानी से बना होता है, लेकिन बढ़ती उम्र के साथ यह पानी कम होता जाता है। जवान यानी एडल्ट होने के बाद एक सामान्य पुरुष के शरीर में पानी की मात्र 60% तक होती है। वहीं महिलाओं का शरीर 55% पानी से बनी होता है। अब सोचने वाली बात है की आखिर यह पानी हमारे शरीर में होता कहां है? कुछ पानी हमारे लीवर और किडनी में मौजूद होता है। हमारे पेट कार ब्लैडर(Bladder) यानी की मूत्राशय और रीड की हड्डियों में स्पाइनल कोर्ट(Spinal Cord) की तरह जमा होता है। हमारे दिल और दिमाग लगभग 75% पानी से बने होते हैं। वही हमारे फेफड़ों में लगभग 83% पानी मौजूद होता है। लेकिन हमारे पूरे शरीर में सबसे ज्यादा पानी हमारे सेल्स(Cells) यानी की कोशिकाओं में मौजूद होती है। दोस्त आपको जानकर हैरानी होगी कि हमारी हड्डियां जो कि पूरी तरह सख्त और सुखी दिखाई देती हैं उनके अंदर भी 31% पानी मौजूद होता है।

लो ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के असरदार घरेलू उपाय

इस तरह से कुल मिलाकर देखा जाए तो हमारे शरीर में सभी अंगों को अपना काम सही से करने के लिए पानी की जरूरत पड़ती ही है। इसलिए एक व्यक्ति हो सकता है की बिना खाना खाएं हुए लंबे समय तक रह ले, पर बिना पानी पिए वह 1 दिन भी नहीं रह सकता। पानी हमारे शरीर के लिए इतना ज्यादा जरूरी होता है कि हमें इससे जुड़े नियमों का पालन करना बहुत ही ज्यादा जरूरी हो जाता है। क्योंकि दोस्तों पानी पीने का तरीका, पानी पीने का समय, और पानी पीने की मात्रा हमारे शरीर पर इसका अच्छा और बुरा दोनों तरह का प्रभाव छोड़ता है।Benefits of Drinking Water

पानी पीने के फायदे और नुकसान Benefits of Drinking Water Tips in Hindi

अब सवाल ये उठता है कि हमें रोजाना कितना पानी पीना चाहिए? किस तरह पानी पीना चाहिए? किस समय पर और कैसा पानी पीना चाहिए? इन सभी बातों का पता होना हमे बहुत ही ज्यादा जरूरी है। क्योंकि पानी से जुड़े तरीको में किसी तरह का लापरवाही बरतने से हमारे शरीर को बहुत ही ज्यादा नुकसान होता है।

जोड़ों में दर्द, कब्ज, माइग्रेन, त्वचा पर दाग, धब्बे और पिंपल्स होना, बालों का झड़ना, लगातार पेट और आंतों से जुड़ी समस्याएं बने रहना, भोजन का ठीक तरह से ना पचना, सर दर्द, कमजोरी और आलस रहना, रात में अच्छी नींद ना आना, किडनी से जुड़ी बीमारियां, त्वचा में रूखापन और झुर्रियां होना और इसके साथ साथ गैस यूरिक एसिड और मोटापा और शरीर की नसों में कमजोरी आने जैसी लगभग 40 से ज्यादा बीमारियां सिर्फ पानी पीने से जुड़ी हुई गलतियों के कारण होती है।

आजकल कई लोग इन समस्याओं से केवल इसलिए परेशान है क्योंकि वह जाने अनजाने पानी पीने की जरूरी बातों पर ध्यान नहीं दे रहे, और शरीर में हो रहे किसी भी तरह की बीमारी के ठीक ना होने की वजह उन्हें कभी भी पता नहीं चल पाती। जो व्यक्ति अपनी जिंदगी में पानी पीने की सही आदत डाल लेता है, वह हर मौसम में स्वस्थ और निरोगी बना रहता है। उनकी लंबी उम्र तक आंखें, हड्डियां, बाल और त्वचा जवान बनी रहती है। पेट हमेशा साफ रहता है, उसकी स्किन चमकदार बनी रहती है, और दोस्तों इतना ही नहीं शरीर के कई तरह की बीमारियों को सिर्फ पानी पीने का तरीका बदल देने से पूरी तरह ठीक किया जा सकता है। और सिर्फ पानी के मदद से ही बिना डाइट और एक्सरसाइज के 1 महीने में 5 kg से ज्यादा वजन घटाया जा सकता है।Benefits of Drinking Water

पानी पीने से जुड़े हुए नियम वैसे तो बहुत आसान है लेकिन इनके फायदे अद्भुत हैं। आइए आज आपको अपने इस पोस्ट Benefits of Drinking Water में हम बतलाते हैं की हम सब को पानी कैसे पीना चाहिए? किस मात्रा में पीना चाहिए? कब और किस तरह पानी पीना चाहिए? और अलग-अलग समस्याओं से पानी पीने से कैसे छुटकारा पाया जा सकता है?

पानी कितना पियें? Benefits of Drinking Water Tips in Hindi

दिन भर में पानी पीने की मात्रा हर व्यक्ति के शरीर के आकार वजन और फिजिकल एक्टिविटी और मौसम पर निर्भर करती है। रोजाना हमारे शरीर से पेशाब, मल और पसीने के जरिए पानी हमारे शरीर से लगातार कम होता रहता है। इसके साथ बोलने और सांस लेने की प्रक्रिया में भी शरीर का पानी भाप बनकर बाहर निकलता रहता है। इस तरह हम रोजाना 2 से 3 लीटर पानी अपने शरीर से बाहर निकाल देते हैं।

इसलिए सामान्यता एक पुरुष को दिन भर में 2.5 से लेकर 3.5 लीटर पानी पीने की सलाह दी जाती है। और महिलाओं को 2 से 3 लीटर पानी पीना शरीर के लिए अच्छा माना जाता है।

कैसे घटाएं तेजी से अपना वज़न How to Lose Weight in Hindi

अगर आप रोजाना और शाम के समय वर्कआउट करते हैं, जिम जाते हैं तो उस स्थिति में आप सभी को पानी पीने की मात्रा थोड़ी बढ़ा देनी चाहिए। और खास करके गर्मियों में बताई गई मात्रा से थोड़ा अधिक पानी पीना चाहिए।

ज्यादा पानी पीना वैसे तो हमारे सेहत के लिए अच्छा होता है लेकिन शरीर में पानी की जरूरत से ज्यादा अधिकता हमारे किडनियों के लिए हानिकारक भी हो सकती है। आप दिन भर में सही मात्रा में पानी पी रहे हैं या नहीं, यह पेशाब नली के यूरिन के कलर से पहचाना जा सकता है। अगर आपके पेशाब का रंग पीला है तो दोस्तों यह निशानी है कि आपका शरीर Dehydrated है। और आपको ज्यादा पानी पीने की आवश्यकता है। वहीं अगर आपके यूरिन का कलर पानी की तरह साफ होता है, तो यह दर्शाता है कि आपकी बॉडी पूरी तरह हाइड्रेटेड Hydrated है।

पानी कब पियें और कब नहीं? Benefits of Drinking Water Tips in Hindi

हमें पानी कब कब पीना चाहिए इससे ज्यादा ध्यान देने वाली बात यह है की हमें पानी कब नहीं पीना चाहिए। क्योंकि गलत समय पर पानी पीने से हमारे शरीर पर सबसे ज्यादा बुरा प्रभाव पड़ता है। अच्छी सेहत और पानी से मिलने वाले सभी तरह के पोषक तत्व का पूरी तरह लाभ उठाने के लिए अपने दिन की शुरुआत चाय या कॉफी की जगह पानी से करें। चाहे आपको प्यास लगी हो या ना लगी हो रोजाना सुबह उठकर आप एक से दो गिलास (500 ml)पानी जरूर पीएं।

खाली पेट पानी पीने से हमारी आंतों की अच्छी तरह से सफाई होती है साथ ही रात भर में जमा मुंह की लार भी पेट में पहुंच पाती है। आयुर्वेद में सुबह सुबह बनने वाली मुंह की लार को सोने से भी ज्यादा महत्वपूर्ण बताया गया है। क्योंकि सोने समय बनी मुंह के लार में हमारे शरीर के लिए आवश्यक सभी तरह के एंजाइम होते हैं। जो कि खाली पेट पानी पीने से हमारे शरीर में प्रवेश करते हैं, और हमारी सेहत पर अच्छा प्रभाव डालते हैं।

एक गिलास में लगभग ढाई सौ ग्राम(250 ml) पानी आता है। और इस तरह दिन भर में 2.5 से लेकर 3 लीटर पानी पीने के लिए आपको इस तरह से पानी पीना चाहिए।

सुबह खाली पेट 2 गिलास (500ml) पानी पियें

एक गिलास नाश्ते के आधे घंटे बाद

1-1 गिलास दिन के खाने के 40 मिनट पहले और 40 मिनट बाद

2 गिलास शाम के समय एक-एक घंटे के गैप( अंतराल) में

और एक-एक गिलास रात के खाने के 40 मिनट पहले और 40 मिनट बाद पानी पी सकते हैं।

इसके अलावा अगर आप रोजाना जिम और वर्कआउट करते हैं या आपके जॉब में बाहर घूमना और चलना-फिरना या शारीरिक काम करना शामिल है तो आप काम करने के दौरान बीच-बीच में आधा-आधा गिलास करके लगभग 2 गिलास पानी जरूर पीजिए।

यह तो हो गई बात कि हम लोगों को कब कब पानी पीनी चाहिए। अब आपको बतलाते हैं कि कब हमें पानी नहीं पीनी चाहिए।

पानी कब नहीं पीना चाहिए? Benefits of Drinking Water Tips in Hindi

कभी भी खाना खाने के तुरंत पहले या खाना खाने के तुरंत बाद पानी नहीं पीना चाहिए। क्योंकि ऐसा करने से खाया हुआ भोजन ज्यादा पतला हो जाता है और खाना ठीक से नहीं पच पाता।

दोस्तों जब हम खाना खाते हैं तो खाना खाने के पहले निवाले के साथ ही उस खाए हुए भोजन को पचाने के लिए हमारे पेट में ‘डाइजेस्टिव जूस’ यानी कि ‘पाचक रस’ बनना शुरू हो जाते हैं। पाचक रस अपनी गर्मी से पेट में मौजूद भोजन को पचाते है। उसी तरह से जिस तरह से हम कच्चे भोजन को पकाकर खाते हैं।

खाने के तुरंत बाद पानी पीने से भोजन पचने के बजाय सड़ने लगता है, और गैस बनने लगती है। अगर आपका दिन भर बैठने का काम है तो खाना खाने के तुरंत बाद पानी पीने की वजह से बनी गैस आपके शरीर के दूसरे अंगों में भी जाकर जमा हो सकती है। जिसकी वजह से समय के साथ-साथ पेट, सर और जोड़ों में दर्द रहने की समस्या होने लगती है।

दोस्तों पेट में खाना नहीं पचने की वजह से जो सबसे बड़ी समस्या होती है वह है ‘एसिडिटी’ । और जो लोग लगातार खाना खाते वक्त ही पानी पी लेते हैं, उनको लंबे समय तक पेट में जलन और एसिडिटी इस समस्या का सामना करना पड़ता है। लगातार पेट का खाना ठीक तरह से नहीं पचने से शरीर में कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) बढ़ने लगता है, और साथी यह यूरिक एसिड की मात्रा को भी बढ़ाता है। इसलिए कभी भी खाना खाने के पहले और खाना खाने के तुरंत बाद पानी नहीं पीना चाहिए। हमेशा खाना खाने के 40 मिनट से 1 घंटे बाद ही पानी पियें।

अगर आप बहुत ज्यादा सूखा भोजन करते हैं तो खाना खाने के तुरंत बाद दो से तीन घूंट पानी पिया जा सकता है। लेकिन अगर फिर भी आपको ज्यादा पानी पीने का मन करें तो पानी पीने की जगह आप छाछ, नींबू पानी, सीजनल फलों का जूस पी सकते हैं। इसके साथ रात के समय भोजन के बाद आप पानी की जगह दूध का सेवन करें। जब भी आप सुबह के समय पानी पियें तो हमेशा आप इसे पेशाब करने के पहले ही पी ले। और ठीक इसी तरह दिन में पेशाब करने के बाद पानी कभी ना पिएं। क्योंकि जब हम पेशाब करते हैं तो हमारे शरीर के अंदरूनी अंग तेजी से सिकुड़ते हैं, और ऐसी स्थिति में तुरंत पानी पी लेने से अंदरूनी अंग और नसे कमजोर होती है। जिसकी वजह से धीरे-धीरे पेशाब ना रोक पाने और पानी ठीक से ना पचने की समस्या पैदा हो जाती है। और पानी पीते ही बार बार पेशाब आने लगती है।

चाय या कॉफी जैसे गर्म चीजों को पीने के तुरंत बाद ठंडा पानी ना पिएं, क्योंकि ऐसा करने से हमारे गले और टॉन्सिल्स को नुकसान पहुंचता है। ठीक इसी तरह ठंडी तासीर वाले फल, खट्टे फल, या जिनमें पहले से ही अधिक मात्रा में रस पाए जाते हैं उन्हें खाने के तुरंत बाद पानी नहीं पियें। क्योंकि पानी पी लेने से भोजन हमारे पेट में पूरी तरह पच नहीं पाते। जिसकी वजह से सर्दी खांसी और पेट खराब होने की संभावना काफी ज्यादा बढ़ जाती है।

पानी कैसे पियें? Benefits of Drinking Water Tips in Hindi

पानी हमेशा धीरे-धीरे पीना चाहिए, ठीक उसी तरह जिस तरह से चाय या कॉफी पी जाती है। पानी पीते समय उसे थोड़ी देर अपने मुंह में रखें फिर निगलें। यह पानी पीने का सबसे बेहतर तरीका है और जो लोग इस तरीके की आदत डाल लेते हैं उनके शरीर में कभी भी किसी तरह की बीमारी नहीं आती। क्योंकि थोड़ा-थोड़ा पानी पीने से पानी के साथ मुंह की लार भी पेट के अंदर जाती है। और यह तरीका सबसे ज्यादा सुबह के समय फायदेमंद होता है।

कभी भी जल्दी-जल्दी पानी ना पियें, और एक बार में ही बहुत सारा पानी ना पिएं। क्योंकि हमारे शरीर की एक बार में केवल 1 गिलास अर्थात 200 ml से 250 ml पानी पचने की क्षमता होती है। अगर आप ज्यादा पानी पीने के चक्कर में एक बार में ही जल्दी-जल्दी आप एक गिलास से ज्यादा पानी पी लेंगे। तो ऐसा किया गया पानी हमारे शरीर को पूरी तरह नहीं लगता। और यह पानी पेशाब के जरिए बहुत जल्दी हमारे शरीर से बाहर निकल जाता है। इसलिए हर 40 मिनट से 1 घंटे के अंतराल में एक गिलास पानी सिप-सिप कर के पियें। और गिलाश या बोतल में मुंह लगाकर पियें। कभी भी गर्दन ऊपर करके एक साथ बहुत सारा पानी नहीं गटक जाएं। और साथ ही हमेशा पानी बैठकर ही पियें। खड़े-खड़े या चलते हुए पानी कभी नहीं पियें। क्योंकि ऐसा करने से पानी शरीर में तेजी से प्रवेश करता है, और ऊपर से पीने से यह हमारे शरीर में बहुत सारा गैस भी ले जाता है। जिससे कि शरीर के अंदरूनी अंग में दबाव और खिंचाव पैदा होता है। धीरे-धीरे पानी पीना, बैठ कर पानी पीना और जल्दी-जल्दी या खड़े रहकर पानी पीने में एक ही पानी का असर हमारे शरीर में अलग-अलग तरीके से होता है।

उचित सही व्ययाम के पांच जरुरी सलाह

धीरे-धीरे मुंह लगाकर पानी पीने से यह हमारे शरीर का पी एच PH लेवल कंट्रोल में रखता है। और पेट के एसिड को शांत करता है। और इसके साथ दोस्तों पानी के साथ मुंह की लार पेट के अंदर जाने से हमारा पाचन तंत्र अच्छा रहता है, और पेट में चर्बी जमा नहीं होती जिससे मोटापा कंट्रोल होता है।

वही दूसरी तरफ अगर आप जल्दी-जल्दी या खड़े होकर पानी पीते हैं तो इससे हमारे शरीर के अंदरूनी अंग और नशे कमजोर होते हैं। शरीर में गैस की मात्रा बढ़ती है, जो कि बाद में जोड़ों में दर्द भी पैदा करती है।

कैसा पानी पियें? Benefits of Drinking Water Tips in Hindi

चाहे कितनी भी ज्यादा गर्मी पड़ रही हो कभी भी फ्रिज का बहुत ज्यादा ठंडा पानी या बर्फ का पानी ना पियें। हमेशा सामान्य तापमान या हल्का ठंडा पानी ही पियें।

पानी पीने के फायदे और नुकसान Benefits of Drinking Water Tips in Hindi

कई लोगों को लगता है कि फ्रिज का बहुत ज्यादा ठंडा पानी हमारे शरीर में ठंडक पहुंचाता है, लेकिन ऐसा नहीं है बर्फ का पानी जो हमारे शरीर में जाता है तो शुरुआत मे वह ठंडा होता है लेकिन कुछ ही देर में वह बहुत ही ज्यादा गर्म हो जाता है। जो कि हमारे शरीर को ठंडा करने के बजाए गर्म करने लगता है। ठंडा पानी पीने के बहुत ही कम फायदे होते हैं। जो लोग हमेशा ठंडा पानी पीना पसंद करते हैं, उनके शरीर में पानी के साथ साथ खाना भी ठीक तरह से नहीं पचता, और सर में दर्द, अपचन, कब्जी जैसे समस्या ज्यादा ठंडा पानी पीने से हो सकती है। इसलिए हमेशा ठंडा पानी पीने के बजाए सामान्य तापमान का ही पानी पियें।

या फिर आप हल्का गर्म करके पानी पियें। ठंड या बारिश के मौसम में गर्म पानी पीने से हमारे शरीर को कई तरह के लाभ मिलते हैं। क्योंकि गर्म पानी पीने से भोजन जल्दी पचता है। और खासकर जिन लोगों को कब्ज या जोड़ों में दर्द रहता है उन्हें हमेशा हल्का गर्म पानी ही पीना चाहिए।

गर्म पानी पीना सर्दी-जुकाम और साइनस की समस्या में बहुत लाभकारी होता है। लेकिन जिन लोगों को एसिडिटी या हाइ ब्लड प्रेशर कि समस्या है वह लोग गर्म पानी का सेवन ना करें।

दोस्तों पानी पीने से जुड़ी हुई इतनी बातें सुनने में थोड़ी ज्यादा लगती है, लेकिन विश्वास माने यह सभी नियम इतने साधारण हैं कि मात्र एक हफ्ते तक अगर आप इन नियमों का पालन करते हैं। तो आपको धीरे-धीरे इन तरीकों की आदत पड़ जाएगी, और उसके बाद बिना ध्यान दिए ही आप सब कुछ नियमों के अनुसार करने लगेंगे।

उम्मीद करता हूं आपको हमारा यह पोस्ट Benefits of Drinking Water Tips in Hindi पसंद आया होगा, अगर आपको हमारा पोस्ट पसंद आया तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिए। धन्यवाद॥

If You Like My Post Then Share To Other People

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here