दूध पीने से पहले जरूर जान लें इसके नियम Best Time to Drink Milk

Best Time to Drink Milk in Hindi

Best Time to Drink Milk in Hindi: दोस्तों दूध मनुष्य के जीवन में सबसे महत्वपूर्ण आहार माना जाता है। क्योंकि जन्म लेते समय से ही हमारे शरीर में जो पहला जैन के रूप में जाता है वह दूध ही होता है। दूध एक एनिमल प्रोडक्ट है जो कि हमें जीवित पशु के द्वारा प्राप्त होता है। और वह सभी चीजें जो हमें किसी जीवित प्राणी के जरिए मिलती हैं, उनमें कई तरह के हारमोंस, एंजाइम्स और अमीनो एसिड की मात्रा काफी ज्यादा होती है। जिसकी वजह से इन्हें सही चीजों के साथ सही समय पर खाना बेहद जरूरी होता है। क्योंकि भोजन में फर्मेंटेड चीजों और पशुओं से मिलने वाली प्रोडक्ट की केमिकल रिएक्शन करने की टेंडेंसी बहुत ज्यादा होती है। Best Time to Drink Milk

Best Time to Drink Milk in Hindi

दोस्तों दूध अपने आप में एक संपूर्ण आहार के बराबर होता है और इंसान के लिए ऐसे कई पोषक तत्व है जो हमें केवल दूध से ही भरपूर मात्रा में मिल सकते हैं। इसलिए कहा जाता है की जो लोग रोजाना दूध नहीं पीते, उन्हें 40 की उम्र के बाद कई तरह की है हेल्थ प्रॉब्लम का सामना करना पड़ता है। और बढ़ती उम्र के बच्चों को तो दूध जरूर पीना चाहिए।

लेकिन दूध का शरीर पर पूरी तरह से असर हो इसलिए दूध से जुड़े हुए नियम पता होना चाहिए। कई लोगों को दूध पीने के बावजूद भी इसका असर उनके शरीर पर पूरी तरह नहीं होता। और कुछ लोगों को तो दूध ठीक से पचता ही नहीं। ऐसी बहुत सारी चीजें हैं जिनका सेवन दूध पीने से पहले या बाद में किया जाए, तो होने वाले केमिकल रिएक्शन हमारे शरीर के लिए हानिकारक हो सकता है। और ऐसी कई बीमारियां भी हैं जिनके होने का कारण दूध का गलत समय पर या गलत चीजों के साथ सेवन करना ही माना जाता है। Best Time to Drink Milk

पेट पाचन, पेशाब, त्वचा के रोग सबसे ज्यादा दूध का गलत समय सेवन करने से ही होते हैं। इसलिए दोस्तों हमारे लिए दूध पीना जितना जरूरी है उससे कहीं ज्यादा जरूरी इससे जुड़े नियम भी हैं। अगर सही तरीके से दूध पिया जाए तो एकमात्र दूध ही शरीर के सभी पोषक तत्व को पूरा करके व्यक्ति को लंबे समय तक निरोगी और ताकतवर बनाए रखने के लिए काफी होता है।

आज के इस पोस्ट Best Time to Drink Milk में हम बात करेंगे दूध से ज्यादा से ज्यादा लाभ उठाने के लिए इसका किस समय पर और कैसे सेवन करना चाहिए? Best Time to Drink Milk किन किन चीजों के साथ दूध का सेवन नहीं करना चाहिए? अलग-अलग बीमारियों में दूध को दवाई की तरह कैसे इस्तेमाल किया जा सकता है। और अगर दूध पचता नहीं तो दूध को पचाने के लिए क्या करें?

दूध कब कब नहीं पीना चाहिए?

खाना खाने के बाद

दूध अपने आप में एक संपूर्ण आहार होता है इसलिए भोजन करने के तुरंत बाद दूध पीना दोबारा भोजन करने के बराबर माना जाता है। क्योंकि दूध को पचाने में काफी समय लगता है। और अगर भोजन के बाद दूध पी लिया जाए तो इससे शरीर भारी लगने लगता है। पेट ज्यादा भरा हुआ महसूस होता है। और भोजन पचने की प्रक्रिया धीमी हो जाती है।

यदि भोजन करने के बाद तुरंत दूध पीना ही हो तो, भोजन और दूध की मात्रा दोनों आधी आधी कर ले। उदाहरण के लिए अगर आप 4 रोटी और एक गिलास दूध पीना चाहते हैं तो, इस स्थिति में रोटी की मात्रा 2 कर दें, और दूध भी केवल आधा गिलास पिए। केवल ऐसा करने से ही आपका भोजन ठीक तरह से पच पाएगा। लेकिन इससे भी बेहतर तरीका यह है कि भोजन करने और दूध पीने के बीच में कम से कम 2 घंटे का अंतराल रखें। Best Time to Drink Milk

खट्टे फल और नमकीन

दोस्तों दूध पीने के पहले या बाद में खट्टी चीजें जैसे कि नींबू अचार, चटनी आदि का सेवन कभी ना करें। और चटपटी नमकीन मसालेदार स्नेक्स को दूध पीने से पहले या बाद में ना खाएं। दूध का इन सभी चीजों के साथ मेल नहीं बनता। और शरीर के अंदर जाकर यह दोनों मिलते हैं तो केमिकल कंपाउंड अलग होने की वजह से पेट में गड़बड़ होने की संभावना बहुत ज्यादा बढ़ जाती है। पेट से आवाज आना, खाना ना पचना, गैस, एसिडिटी, पेट फूलना, और पेट दर्द जैसी समस्या दूध के साथ खट्टी चीजों का सेवन करने से हो सकती है।

प्याज और बैगन

दूध का केमिकल कंपाउंड प्याज और बैगन के भी विरोध होता है। इसलिए अगर आप भोजन में बैगन और सलाद के लिए कच्चे प्याज का सेवन करते हैं तो कम से कम दो घंटे के बाद ही दूध का सेवन करें। इन दोनों के साथ दूध का मिश्रण होने से अलग-अलग तरह के स्किन एलर्जी और त्वचा रोग होने की संभावना काफी बढ़ जाती है। Best Time to Drink Milk

मछली और मांस

ऐसा माना जाता है कि मछली खाने के बाद अगर दूध पी लिया जाए तो शरीर पर सफेद धब्बे और र्लीकोडरमा जैसी बीमारियां हो सकती है। हालांकि ऐसा अभी तक साइंटिफिकली प्रूफ नहीं हुआ है। लेकिन फिर भी मछली और नॉनवेज के साथ या बाद में दूध का सेवन वैसे भी एक सही निर्णय नहीं है। क्योंकि दूध अपने आप में कैल्शियम और प्रोटीन से भरपूर होता है। और मांस, मछली आदि में प्रोटीन की मात्रा बहुत अधिक होती है। मांस और दूध दोनों काफी है हेवी होते हैं, जिसके कारण उन दोनों को एक साथ पचाने में हमारे पेट और आंतों को जरूरत से ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है। जिससे त्वचा रोग से ज्यादा इससे पाचन रोग होने की संभावना काफी बढ़ सकती है।

दही के साथ

दूध में जब मिलाया जाता है तो दही दूध के साथ केमिकल रिएक्शन करके उसे भी दही में बदल देता है। और जब हम इन दोनों का साथ में या एक के बाद एक का सेवन करते हैं। तो यह प्रक्रिया हमारे पेट में शुरू हो जाती है। जिससे हमारे पाचन में गड़बड़ी होने की संभावना काफी ज्यादा बढ़ जाती है।

दूध कब और कैसे पीना चाहिए?

आयुर्वेद के हिसाब से दूध पीने का सही समय रात का माना जाता है। दूध के अंदर ‘ट्रिपटोफिन’ नामक अमीनो एसिड होता है, जो कि दिमाग और बॉडी को शांत कर के अच्छी नींद लाने में मदद करता है। रात भर के एक लंबे अंतराल में जब हम कुछ भी नहीं खाते तो दूध का असर हमारे शरीर पर सबसे ज्यादा होता है। और जो लोग रात को दूध पीते हैं उनका सुबह पेट भी खुलकर साफ होता है। Best Time to Drink Milk

दिन में दूध पीने से इसमें मौजूद सारे पोषक तत्व हमारे शरीर को नहीं मिल पाते। रात में दूध पीते समय भोजन की मात्रा को कम रखें और खाने के कम 2 घंटे के बाद ही दूध का सेवन करें।

दूध कैसे पिए?

अगर आपका वजन बढ़ा हुआ है या सामान्य है तो गाय का दूध पीना सबसे बेहतर होगा। लेकिन अगर आप अपना वजन बढ़ाकर थोड़े मोटा होना चाहते हैं तो, ऐसे में भैंस के दूध का सेवन करना सही होगा।

ताकत और पोषक तत्व की नजर से अगर देखा जाए तो गाय का दूध भैंस के दूध से कई गुना ज्यादा बेहतर होता है। क्योंकि इसका असर हमारे दिमाग, त्वचा, हड्डियों और बालों पर काफी तेजी से दिखाई पड़ता है। भैंस का दूध सामान्य दूध के मुकाबले शरीर में कफ की मात्रा को बढ़ाता है। और यह सिर्फ वजन बढ़ाने के लिए सबसे ज्यादा उपयोगी होता है। इसलिए हमेशा गाय का दूध पीए।

कैसे घटाएं तेजी से अपना वज़न

और अगर गाय में आप ‘गीर गाय’ का A2 मिल्क अरेंज कर सकें, तो यह दूध किसी अमृत से कम नहीं है। ‘गीर’ गाय का दूध सबसे ज्यादा हेल्दी, लो फैट, हाई एनर्जी और बेहद शक्तिशाली होता है। गिर गाय का दूध थोड़ा महंगा होता है, क्योंकि इसके एक ही गिलास में आम गाय के पांच गिलास दूध के बराबर शक्ति होती है। और यह वजन घटाने के लिए भी काफी यूजफुल माना जाता है।

दोस्तों दूध कभी भी ठंडा नहीं पिए। क्यों की दूध के पचने की गति धीमी होती है, और जब हम ठंडा दूध पीते हैं तो यह और भी ज्यादा धीरे-धीरे पचता है। जिससे पेट में गैस बनना शुरू हो जाता है।, दूध को हमेशा थोड़ा गर्म कर ले या, सामान्य तापमान पर ही इसका सेवन करें। Best Time to Drink Milk

दूध में मिठास के लिए शहद, देसी खांड, और मिश्री का ही इस्तेमाल करें। चीनी से मीठा किया गया दूध बिल्कुल भी लाभकारी नहीं होता। क्योंकि चीनी दूध के सारे पोषक तत्व को नष्ट कर देती है। और साथ ही हमें चीनी वाला दूध पचाने में भी काफी मुश्किल होती है। दूध केवल बच्चों को ही नहीं बल्कि हर उम्र के व्यक्ति को पीना चाहिए। और हर बार दूध का सेवन करते समय आज के हमारे इस पोस्ट में बताई गई सारी बातों का ध्यान जरूर रखें। ताकि बेवजह होने वाली परेशानियों से बच कर आप दूध का पूरा लाभ उठा सकें। Best Time to Drink Milk

अगर आपको शंका है कि जो दूध आप पी रहे हैं, वह पूरी तरह शुद्ध नहीं है या उसमें मिलावट है और आप दूध के असली लाभ को नहीं ले पा रहे हैं। तो हम आगे आने वाली पोस्ट में आपको बताएंगे की मिलावट वाली दूध की पहचान कैसे की जाती है? और वह कौन-कौन सी चीजें हैं जिन्हें दूध में मिलाकर लेने से इसका असर दुगना हो जाता है।

तो उम्मीद करते हैं आपको हमारा पोस्ट “Best Time to Drink Milk in Hindi” पसंद आया होगा । अगर आपको हमारा पोस्ट पसंद आता है तो उसे आप अपने दोस्तों के साथ शेयर कीजिए। और इसी तरह के हेल्थ से जुड़े हुए पोस्ट पढ़ते रहने के लिए हमारे ब्लॉग के साथ जुड़े रहिए। धन्यवाद॥

Loading...
If You Like My Post Then Share To Other People

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here