हानिकारक सफ़ेद नमक छोड़े, और स्वाद के लिए आजमाएं ये 3 सेहतमंद चीजें | Healthiest Alternative of SALT

0
544

Healthiest Alternative of SALT: अक्सर हमने लोगों को कहते हुए सुना होगा कि नमक कम खाना चाहिए क्योंकि यह सेहत के लिए हानिकारक होता है, इसके कई गंभीर नुकसान होते हैं वगैरा-वगैरा । लेकिन यह बात किस हद तक सही है? नमक (सॉल्ट) यानी सोडियम क्लोराइड हमारे शरीर के लिए एक ऐसा जरूरी केमिकल कंपाउंड है जिसके बिना हमारे शरीर में लीवर, दिल, थाइरोइड जैसे कई जरूरी अंग काम करना बंद कर सकते हैं । सही मायनों में नमक के बिना जीवित रह पाना बहुत मुश्किल है । दूसरी तरफ शरीर में जब नमक की मात्रा बढ़ जाए तो मामूली से दिखने वाले नमक के सफेद दाने व्यक्ति की जिंदगी को खोखला कर सकते हैं । बालों का झड़ना, त्वचा रोग, एसिडिटी, हाई ब्लड प्रेशर सेक्सुअल कमजोरी, किडनी में समस्या, यूरिक एसिड और यहां तक की हार्ट अटैक जैसे लगभग 40 से ज्यादा गंभीर रोग शरीर में नमक की मात्रा बढ़ने से हो सकते हैं।

हैरानी की बात तो यह है हमारे देश में आज 90% से ज्यादा लोग अपने डाइट में नमक जरूरत से ज्यादा ही खा रहे हैं । क्योंकि हमारे भोजन में तो नमक ज्यादा है ही, भोजन के अलावा फलों से लेकर स्नेक्स तक जितनी भी खाए जाने वाले चीजें आज हमारे पेट में जा रही है उन सभी में नमक जरूर मौजूद होता है। काफी ज्यादा संभावना है कि आप भी अपने दिन भर के खानपान में नमक ज्यादा ही खा रहे होंगे। और आपको इस बात का अंदाजा भी ना हो। सर दर्द, मोटापा, बालों का झड़ना, या शरीर में चल रही किसी भी बीमारी का मुख्य कारण कहीं ना कहीं नमक भी हो सकता है।

देखा जाए तो नमक भी चीनी जितना ही हानिकारक हो सकता है, और कई स्थितियों में तो चीनी से भी ज्यादा। पर नमक को पूरी तरह से छोड़ पाना बेहद मुश्किल है, क्योंकि नमक के बिना सभी चीजें फीकी और बेस्वाद लगने लगती है। ऐसे में सवाल अब यह उठता है कि आखिर किया किया जाए? क्या हो अगर हमें कोई ऐसी चीज मिल जाए जिसका इस्तेमाल नमक की जगह पर किया जा सके, और वह स्वाद में भी पूरी तरह नमक की तरह ही हो। लेकिन सेहत की नजर से शरीर को हानि पहुंचाने की जगह फायदे पहुंचाए।

जानिए बादाम खाने के जबरदस्त फायदे

आज के अपने इस पोस्ट में हम बात करेंगे टेबल साल्ट यानि सादे नमक के कुछ ऐसे अल्टरनेटिफ के बारे में… जिनके इस्तेमाल से ना सिर्फ नमक से होने वाले नुकसानओं को पूरी तरह से रोका जा सकता है, बल्कि शरीर में मौजूद छोटी-बड़ी और गंभीर बीमारियों को भी ठीक किया जा सकता है। इसके साथ ही हम जानेंगे कुछ ऐसे लक्षणों के बारे में जिससे आप पता लगा सकते हैं कि आपके शरीर में नमक की मात्रा बढ़ी हुई है, या साधारण है। लेकिन उससे पहले हम यह जान लेते हैं कि हमें रोजाना कितना नमक खाना चाहिए? और जब हम नमक खाते हैं तो यह हमारे शरीर पर क्या-क्या प्रभाव डालता है?

हमें रोजाना कितना नमक खाना चाहिए?

नमक हमारे शरीर में सोडियम का सबसे मुख्य स्रोत है। सोडियम एक ऐसा तत्व है जिसके बिना हम जीवित नहीं रह सकते। शरीर में ज्यादातर सोडियम हमारे खून और बॉडी सेल्स में पाए जाते हैं। शरीर में फ्लू और तरल का बैलेंस बनाए रखने के साथ-साथ हमारे नवज और मसल्स के प्रॉपर फंक्शनिंग के लिए यह अनिवार्य होता है। अगर शरीर में इसकी कमी हो जाए तो शरीर में हाइपोनेट्रिमिया जैसी गंभीर बीमारी भी हो सकती है। जिसके चलते सर और शरीर में दर्द, बार-बार थकान होना और चक्कर आना, बॉडी में कमजोरी महसूस होने लगती है। इसके अलावा कई स्थितियों में सोडियम की कमी हमारी किडनी को भी खराब कर सकती है। इससे हमारी दिमागी संतुलन खराब हो सकती है, और व्यक्ति कोमा में भी जा सकता है।

लेकिन जब नमक हमारे शरीर के लिए इतना जरूरी है तो इसे हानिकारक क्यों माना जाता है? इसकी तीन सबसे मुख्य वजह है। पहली और सबसे बड़ी वजह है हमारा खानपान। हमारे खानपान में पहले से ही सोडियम काफी ज्यादा मौजूद होता है, और हम दिन भर में जाने-अनजाने इसे खाते ही रहते हैं।

दूसरी वजह है केमिकल और रिफायनिंग प्रोसेस से बना सफेद नमक का इस्तेमाल जो कि हमारे शरीर के लिए सबसे ज्यादा हानिकारक होता है। और तीसरी वजह है हमारे रेगुलर डाइट में सोडियम घटने वाले पोषक तत्वों की कमी होना। जो हमारे शरीर में बढ़े हुए सोडियम को घटाने का काम करते हैं। अब यहां सवाल आता है कि हमें रोजाना कितना नमक खाना चाहिए?

हमे रोजाना कितना नमक खाना चाहिए?

आमतौर पर लोगों को 1 दिन में दो से 3 ग्राम नमक खाने की सलाह दी जाती है। हमारे हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के अनुसार एक व्यक्ति को दिन भर में 5 ग्राम से ज्यादा नमक नहीं खाना चाहिए। फरवरी 2019 में की गई एक स्टडी से पता चला है कि भारत में रहने वाले लोग अपने 24 घंटे की डाइट में 11 से लेकर 15 ग्राम तक नमक खा जाते हैं। और लगभग सभी लोग इस बात से अनजान हैं।
Cardiovascular Disease यानी दिल के रोग एक ऐसा रोग है जिससे हर साल हमारे देश में लगभग 23 लाख लोगों की मौत हो जाती है। और इन 23 लाख में से लगभग 30% लोग हाई ब्लड प्रेशर के मरीज होते हैं। यह हाई ब्लड प्रेशर दिन भर में खाए गए जरूरत से ज्यादा नमक का ही परिणाम होता है। क्या आपको इस बात की जानकारी है कि? इस वक्त आपका ब्लड प्रेशर बढ़ा हुआ है या सामान्य है। क्या आप यह जानते हैं, कि आप जितना रोजाना नमक खा रहे हैं वह 5 ग्राम से कम है या ज्यादा? अगर आपको इन दोनों ही सवालों का जवाब नहीं पता तो इस पोस्ट को आगे पढ़ते-पढ़ते आपको यह पता चल जाएगा।

ज्यादा नमक खाने के नुकसान

आयुर्वेद की नजर से देखा जाए तो ज्यादा नमक खाने से धीरे-धीरे शरीर में पित्त की मात्रा पड़ने लगती है। जिससे हाइपर, एसिडिटी जैसी गंभीर समस्या होने की संभावना काफी ज्यादा बढ़ जाती है। समय से पहले बढे “पित्त की मात्रा” से समय से पहले ही बाल सफेद होने लगते हैं, आंखें भी कमजोर हो जाती है। ज्यादा नमक खाना खून को ऐसेडिक बनाता है, जिससे सोरायसिस, एग्जिमा और खुजली जैसे कई सारे त्वचा रोग हो सकते हैं।

बढ़ा हुआ नमक हमारे शरीर के हड्डियों में से धीरे-धीरे कैल्शियम को घटाने लगता है जिससे समय के साथ-साथ हमारी हड्डियां कमजोर पड़ने लगती है। और आगे चलकर इसकी वजह से व्यक्ति ओस्टियोपोरोसिस जैसी गंभीर समस्या से ग्रसित हो सकता है। ज्यादा नमक खाने वाले लोगों को पसीना ज्यादा निकलता है,पानी शरीर से जल्दी बाहर निकलने लगता है। जिससे पेशाब भी जल्दी जल्दी आती है, और प्यास भी ज्यादा लगती है। बॉडी की अंदरूनी गर्मी बढ़ी हुई रहती है, और पेट में जलन होने की शिकायत भी बनी रहती है। नमक का बुरा असर हमारी किडनी पर भी पड़ता है। इसके साथ ही इसका असर हमारे लीवर पर भी पड़ता है। लेकिन ज्यादा नमक खाने का सबसे बुरा परिणाम होता है हाई ब्लड प्रेशर।

हाई ब्लड प्रेशर की वजह से दिल से जुड़े कई गंभीर रोग उत्पन्न हो सकते हैं। कई लोगों को अक्सर अपने बढे हुए ब्लड प्रेशर का अंदाजा भी नहीं होता। और फिर अचानक एक दिन वह हार्टअटैक का शिकार बन जाते हैं। जब हम मीठा ज्यादा खा रहे होते हैं तो हमें पता होता है कि हम जरूरत से ज्यादा शुगर खा रहे हैं। जिससे डायबिटीज और मोटापे का खतरा है। लेकिन नमक के मामले में हम सब इसे पूरी तरह से नजरअंदाज कर देते हैं। क्या आप जानते हैं फ्रेंड? की चाहे आप अपनी भोजन में ऊपर से नमक ना भी डालें फिर भी आप दिन भर में 5 ग्राम से ज्यादा नमक खा ही लेते हैं।

हम ज्यादा नमक कैसे खा लेते हैं?

अगर हम अपना रोजाना खाए जाने वाले भोजन पर नजर डालें तो आमतौर पर हमारी थाली में दो मेन चीजें होती है… रोटी और सब्जी। सुबह और शाम के साधारण भोजन में हमारे शरीर की जरूरत के मुताबिक नमक की मात्रा पर्याप्त होती है। लेकिन रोटी, सब्जी, दाल, चावल और सलाद के अलावा हम भोजन में कई बार कुछ एक्स्ट्रा चीजें भी खाते हैं। जो हमारे शरीर में सोडियम की मात्रा बढ़ाने का काम करती है।

उदाहरण के लिए अचार। क्या आप जानते हैं? अचार के एक चम्मच में तकरीबन 500 से 1000 Mg तक का सोडियम हो सकता है। यानी कि एक बार में ही 1 ग्राम एक्स्ट्रा नमक। इसी तरह पापड़, नमकीन छाछ, सलाद में ऊपर से डाला गया नमक, नमकीन सेव, चटनी आदि भी भोजन में अतिरिक्त नमक को बढ़ाने का काम करते हैं।

लेकिन अगर आपके खाने में हरी सब्जियां और पोटेशियम बेस्ट फल शामिल हैं तो भोजन के साथ खाया गया एक्स्ट्रा नमक हमारा शरीर आसानी से बाहर निकाल देता है। देखा जाए तो आमतौर पर हमारे शरीर में नमक का ओवरडोज बाहर में मिलने वाली चीजें और पैकेट में बंद जंक फूड को खाने की वजह से ही होता है। शाम के समय खाई गई चार्ट में नमक की मात्रा इतनी अधिक होती है कि एक बार में ही हमारे शरीर में यह सोडियम की मात्रा को दुगनी रफ्तार से बढ़ा देता है। इसके अलावा हर तरह के स्ट्रीट फूड और डीप फ्राइड स्नेक्स में भी नमक की मात्रा काफी ज्यादा होता है। पैकेट में मिलने वाली ब्रेड, जैम, चिप्स, चीज, फ्रूट जूस, और बिस्कुट जैसी खाई जाने वाली चीजों में नमक भरपूर मात्रा में मौजूद होता है। चाहे दिन में खाए जाने वाले नमकीन ड्राई फ्रूट्स या नट्स हो या खाने के बाद खाई गई पाचन की गोली। नमक का स्वाद हमारे जीव पर कुछ इस तरह से चढ़ गया है कि हमें दिनभर में खाये गए जरूरत से ज्यादा नमक का अंदाजा ही नहीं होता।हानिकारक सफ़ेद नमक छोड़े, और स्वाद के लिए आजमाएं ये 3 सेहतमंद चीजें | Healthiest Alternative of SALT

कई लोग फलों के जूस में भी ऊपर से नमक डाल देते हैं। इससे उस जूस के पोषक तत्व भी कम हो जाता हैं साथ ही बॉडी में सोडियम ही बढ़ जाता है। वहीं कुछ लोगों की खाना खाने से पहले ही खाने में नमक डाल लेना आदत बन चुकी है। इसके अलावा शादी और त्योहारों पर भी मीठा और नमकीन काफी अधिक मात्रा में खाया जाता है। आप नीचे दिए गए चार्ट में यह देख सकते हैं कि कौन-कौन से ऐसे फल,सब्जियां,अनाज और अन्य खाई जाने वाली चीजें हैं जिनमे नमक की मात्रा अधिक होती है।

आप में से कई लोग इस वक्त यह सोच रहे होंगे कि इतनी सारी चीजों में अगर नमक ज्यादा है, तो आखिर क्या खाया जाए? दरअसल फ्रेंड्स सब कुछ खाए जाने के बावजूद भी शरीर में नमक को बढ़ने से रोका जा सकता है। इसके लिए जरूरी है कि अपने डाइट में पोटेशियम से भरपूर फूड को शामिल किया जाए। क्योंकि पोटेशियम एक ऐसा तत्व है जिससे कि हमारे शरीर में सोडियम को बैलेंस में बनाए रखने का काम करती है। यानी कि जितना ज्यादा हम पोटेशियम खाएंगे उतना ज्यादा नमक हमारे शरीर से बाहर निकलेगा।

3 दिन में फेफड़ों को साफ करके धूम्रपान के प्रभाव को ख़त्म करें

अगर आपके डाइट में पोटेशियम वाली चीजों की कमी है, तो कम नमक खाने के बावजूद भी आपके शरीर में सोडियम की मात्रा बढ़ सकती है। इसलिए आप नमक ज्यादा खाएं या कम अपने खाने की चीजों में पोटेशियम वाली चीजों को जरूर शामिल करें। फलों की अगर बात की जाए तो केले, संतरा और खरबूज आदि फलों में प्रचुर मात्रा में पोटेशियम पाया जाता है। सब्जियों में स्वीट पोटैटो, आलू, ब्रोकोली खीरा आदि में भी काफी ज्यादा पोटेशियम मौजूद होता है।

इन सभी के अलावा नीचे दिए गए चार्ट में भी कुछ ऐसी चीजें हैं जिनमें पोटेशियम अधिक पाया जाता है। अपने बॉडी में सोडियम की सही बैलेंस बनाए रखने के लिए ज्यादा से ज्यादा चीजों को अपनी डाइट में शामिल करें।

हानिकारक सफ़ेद नमक छोड़े, और स्वाद के लिए आजमाएं ये 3 सेहतमंद चीजें | Healthiest Alternative of SALT

अब तक हमने जाना कि अनजाने में हम कैसे दिन भर में ज्यादा नमक खा लेते हैं। कौन सी चीजें खाने से हमारे शरीर में बढ़े हुए सोडियम को घटाया जा सकता है? लेकिन इन सारी बातों को ध्यान रखने के अलावा हमें इस बात पर भी ध्यान रखना चाहिए कि हम नमक किस तरह का खा रहे हैं?

सफेद नमक

सफेद नमक यानि टेबल साल्ट या कॉमन साल्ट एक ऐसा नमक है जो आमतौर पर सबसे ज्यादा खाया जाता है। और सबसे ज्यादा हानिकारक भी होता है। हानिकारक इसलिए क्योंकि इस नमक को ज्यादा सफेद और शुद्ध बनाने के लिए केमिकल और रिफायनिंग प्रोसेस का इस्तेमाल इस पर किया जाता है। रिफायनिंग की वजह से इसमें मौजूद आधे से ज्यादा पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं। जिसमें आयोडीन भी शामिल है। लेकिन फिर भी टीवी पर दिखाए गए एडवर्टाइजमेंट में इसे आयोडीन से युक्त बताकर इसे सस्ते दामों में बेचा जाता है।

दूध पीने से पहले जरूर जान लें इसके नियम

पोषक तत्वों की कमी की वजह से सफेद नमक लाभदायक तो नहीं नुकसानदायक जरूर हो जाता है। इससे हमारे मेटाबॉलिज्म और थायराइड ग्रंथि पर असर पड़ता है। सफेद नमक वह नमक है जो मोटापा बढ़ाने, हड्डियों को कमजोर बनाने, ब्लड प्रेशर बढ़ाने, दिल की बीमारियों का खतरा बढ़ा देता है। ऐसे में जरूरी है कि जल्द से जल्द सफेद नमक को छोड़कर दूसरे नमक का इस्तेमाल शुरू किया जाए। हम सफेद नमक की जगह कई अलग-अलग तरह के नमक का इस्तेमाल कर सकते हैं। जैसे पहला है

1. सेंधा नमक

आयुर्वेद की नजर से देखा जाए तो सेंधा नमक हमारे भोजन में इस्तेमाल किए जाने के लिए सबसे ज्यादा उपयोगी माना जाता है। इसमें आयोडीन के साथ-साथ पोटेशियम आयरन जिंक और मैग्नीशियम जैसी लगभग 80 से ज्यादा फ्रेश एलिमेंट्स पाए जाते हैं। यह गले और पेट से जुड़े हुए रोगों को ठीक करने के लिए कारगर माना जाता है। और साथ ही जिन लोगों को शरीर में कमजोरी या मसल्स में अकड़न होते रहती है उन लोगों को सेंधा नमक का जरूर इस्तेमाल करना चाहिए। यह हमारे पाचन को बेहतर बनाता है। मेटाबॉलिज्म को पुष्ट करता है, और हमारी इम्यूनिटी को भी स्ट्रांग बनाता है।

2. काला नमक

सेंधा नमक के अलावा काला नमक भी हमारे शरीर के लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद माना जाता है। लेकिन इस में सल्फर की अधिकता के कारण इसका स्वाद साधारण नमक से थोड़ा अलग होता है। सल्फर हमारे पाचन और लीवर के लिए बहुत उपयोगी होता है। इसलिए काले नमक को किडनी और पेट की सफाई करने वाला नमक भी कहा जाता है। यह हमारे बॉडी में एक डिटॉक्स एजेंट की तरह काम करता है, जिससे पाचन तंत्र से जुड़े हुए रोग जैसे कि गैस, कब्ज, ब्लोटिंग की समस्या नहीं होती। जिन लोगों को त्वचा से जुड़े हुए रोग होते रहते हैं, जिनके शरीर में खून की कमी है उन्हें अपने भोजन में हमेशा काले नमक का इस्तेमाल करना चाहिए।

3. हिमालयन पिंक साल्ट

हिमालयन पिंक साल्ट में सोडियम की मात्रा आम सफेद नमक की मुकाबले कम होती है। देखा जाए तो यह भी एक प्रकार का सेंधा नमक ही हैं। जो कि हिमालय पर्वत पर पाया जाता है। हिमालयन पिंक साल्ट के कमाल के फायदों के कारण आजकल ज्यादातर लोग सफेद नमक की जगह इसे ही इस्तेमाल करते हैं। हिमालयन पिंक साल्ट में 80 से ज्यादा मिनरल्स मौजूद होते हैं जो कि खाने में स्वाद बढ़ाने के साथ-साथ हमारी सेहत को भी फायदा पहुंचाते हैं। यह हमारे बॉडी के PH लेवल को मेंटेन करता है। और यह हमारे दिमागी शक्ति को भी बढ़ाता है।

ऊपर बताए गए तीनों नमक आपको मार्केट में आसानी से मिल जाएंगे। अगर आप चाहें तो इन्हें ऑनलाइन भी खरीद सकते हैं। इस पोस्ट में लिखी गई अगर सारी बातों पर नजर डाली जाए तो हमें पता चलता है कि हमें अपनी जिंदगी में नमक के सेवन पर भी ध्यान देनी चाहिए। क्योंकि नमक भी चीनी जितना ही हानिकारक होता है। हम नमक ज्यादा खाएं या कम हमारे बॉडी में सोडियम का सही बैलेंस बनाए रखने के लिए हमारे शरीर मे पोटेशियम की मात्रा अधिक होनी चाहिए। इसके अलावा हमें धीरे-धीरे कम नमक खाने की आदत भी डालना चाहिए। ताकि भविष्य में इसके गंभीर नुकसान से बचा जा सके। साथ ही सफेद नमक का इस्तेमाल जल्द से जल्द बंद करके उसके जगह पर दूसरे हेल्दी नमक का इस्तेमाल शुरू कर देना चाहिए।

तो आशा करते है की आपको हमारा यह पोस्ट पसंद आया होगा। दोस्तों इसी तरह के हेल्थ से से जुड़े और भी ज्ञानवर्धक पोस्ट हमारे इस ब्लॉग Gyan Manthan के साथ जुड़े रहिए। अगर आपको यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर कीजिएगा। धन्यवाद॥

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here