इंटरनेट बैंकिंग करने के फायदे और नुकसान Internet Banking Benefits and Loss

Internet Banking Benefits and Loss in Hindi

Internet Banking Benefits and Loss  in Hindi:- हेलो दोस्तों नमस्कार, आपने बहुत सारे ऐसे वर्ड सुने होंगे, जो आजकल काफी पॉपुलर हो रहे हैं , कैशलेस ,या कैशलेस पेमेंट, डिजिटल पेमेंट सिस्टम ,  इस तरह के बर्ड्स आपने काफी सारे सुने होंगे। कैशलेस या डिजिटल पेमेंट के एक पाठ के बारे में, मैं आज बात करने जा रहा हूं, जिस बर्ड् के बारे में आपने बहुत सुना होगा। आपने कई बार सुना होगा जिसका नाम है इंटरनेट बैंकिंग (Internet Banking) । दोस्तों आज हम बात करेंगे, कि इंटरनेट बैंकिंग (Internet Banking) क्या होता है? इसके फायदे क्या हैं? और इसके क्या नुकसान हैं। इंटरनेट बैंकिंग (Internet Banking) करनी चाहिए या नहीं करनी चाहिए। या इंटरनेट बैंकिंग (Internet Banking) की सुविधा कैसे ली जाए? आज इन सब बातों के बारे में हम बात करेंगे।

हिन्दी भाषा का जन्म कैसे हुआ था?

कई सारे ऐसे दोस्त हैं, जो इंटरनेट बैंकिंग,कैशलैस ट्रांजैक्शन के पूरी डिटेल्स जानते हैं, और इसका यूज भी करते हैं। पर दोस्तों यह पोस्ट उन लोगों के लिए है, जो इंटरनेट बैंकिंग (Internet Banking) बिल्कुल भी नहीं जानते हैं ,की कैशलेस ट्रांजैक्शन क्या है? इसके क्या फायदे हैं और क्या नुकसान है? तो चलिए आज हम आप सभी को इसी के बारे में बताते है।

दोस्तों आपका बैंक खाता पुराना है ,या नया। जब भी आपने किसी भी,बैंक में खाता खोला होगा ,तो  आपको उस बैंक की मैनेजर ने एक चीज जरूर पूछी होगी, कि आपको चेक बुक चाहिए या नहीं चाहिए। आपको इंटरनेट बैंकिंग (Internet Banking) चाहिए या नहीं चाहिए, तो दोस्तों अलग अलग बैंक का एक अलग अलग सिस्टम है। तो एसबीआई(SBI) जैसे कुछ बैंक ग्रामीण क्षेत्रों में  ₹1000 में चेक बुक और इंटरनेट बैंकिंग की  फैसिलिटी फ्री ऑफ कॉस्ट दे देते हैं। पर वही कुछ दूसरे प्राइवेट बैंक जो है उनके अलग अलग चार्ज है ,  2500  से लेकर 5000 10000 कुछ भी चार्ज करते हैं। दोस्तों अब हम बात करते हैं, कि इंटरनेट बैंकिंग क्या है?

इंटरनेट बैंकिंग (Internet Banking) का मतलब क्या होता है?

इंटरनेट बैंकिंग (Internet Banking) 2 शब्दों से बना है ,इंटरनेट और बैंकिंग।  इंटरनेट और बैंकिंग का मतलब आप भली-भांति जानते हैं। दोस्तों इंटरनेट बैंकिंग का मतलब हम अपने शब्दों में समझाने की कोशिश करते है , आपका बैंक आपको एक ऐसी पावर देता है जिससे आप बैंक खाते को इंटरनेट की मदद से कभी भी कहीं भी आप चेक कर सकते हैं,लेन देन कर सके है । इसके अलावा आप बहुत सारा काम बिना बैंक जाए घर पर भी कर सकते हैं। न ही आपको बैंक में जाकर लंबी लंबी लाइनों में लगने की जरूरत नहीं है और ना ही आपको अपना समय व्यर्थ गंवाने की जरूरत है। आपके जितने भी बैंक का काम है, जैसे कि किसी को पैसा भेजना है,या किसी से पैसा मंगवाना, अपना अकाउंट बैलेंस चेक करना, इसके अलावा बहुत सारे काम जैसे मोबाइल रिचार्ज करना, डीटीएच रिचार्ज करना ऑनलाइन शॉपिंग करना ,इसके अलावा और भी बहुत सारे काम है,जो आप घर बैठे इंटरनेट बैंकिंग की मदद से कर सकते हैं।

अब बात करते हैं, इंटरनेट बैंकिंग (Internet Banking)  कैसे ली जाए? आपका खाता पुराना है या नया और आपने इंटरनेट बैंकिंग नहीं ली है, तो आप अपने जो भी बैंक की ब्रांच हो, वहां जाइए और बैंक मैनेजर से बोलिए कि मुझे इंटरनेट बैंकिंग फैसिलिटी चाहिए। इंटरनेट बैंकिंग टोटली फ्री होती है। यह सिर्फ बैंक की छोटी सी रिक्वायरमेंट होती है, कि आपके खाते में मिनिमम बैलेंस इतना होना चाहिए,(जो भी उनकी एक शर्त होती है)। जैसा कि मैंने बताया था ,कि ग्रामीण क्षेत्रों में एसबीआई(SBI) की 1000 रुपया है , बाकी प्राइवेट बैंकों की बात करें ,तो किसी मे 2500 रुपया,किसी में 5000, किसी में ₹10000 रुपया है। वो मिनिमम बैलेंस बैंक आपको बताता है। वह आपको अपने बैंक खाते में मेंटेन करना है या रखना है। उसको जब मर्जी करे आप निकाल सकते हैं। इंटरनेट बैंकिंग बिल्कुल फ्री होती है, इसके लिए कोई पैसा नहीं काटा जाता है। बात करते हैं की जब इंटरनेट बैंकिंग हमे मिलती है तो वो कौन सी यैसि कौन पावर होती है  जिसकी मदद से हम अपने खाते का बैलेंस चेक कर पाते हैं, पैसे का लेनदेन कर पाते हैं।

जब इंटरनेट बैंकिंग (Internet Banking) मिलती है, तो आपको एक यूजर आईडी मिलता है, जो यूनीक होता है वैसा यूजर आईडी किसी और का नहीं होता है। दूसरा, दो तरह के पासवर्ड आपको मिलते हैं, एक लॉगइन पासवर्ड और एक ट्रांजैक्शन पासवर्ड। जब आपको इंटरनेट बैंकिंग किट मिल जाती है, मतलब यूजर्स आईडी और पासवर्ड मिल जाते हैं, उसके बाद आपको जाना होता आपके अपनी बैंक की वेबसाइट पर, इंटरनेट पर उस वेबसाइट को ओपन करना होता है, और लॉगइन बटन पर जाकर जो आपका यूजर आईडी मिला है उसे आपको इंटर करना होता है। और जो पासवर्ड  मिले हैं, फॉर द टाइम में है, आपको उन पासवर्ड को, पहले लॉगइन पासवर्ड को इंटर करना है। उसके बाद बैंक इमीडीएटली आपको बोलता है, कि आपको जो लॉगइन पासवर्ड मिला है , इसे आप चेंज कर दें। इसके बाद आप अपनी मर्जी का सीक्रेट पासवर्ड जो भी रखना चाहे रख ले। ट्रांजैक्शन पासवर्ड की जरूरत तब पड़ती है, जब आपने किसी को पैसा सेंड करना है। इंटरनेट बैंकिंग में ,किसी को पैसा भेजने के लिए, आपको दो ऑप्शन मिलते हैं, एक मिलती है, ‘नेट बैंकिंग’ और दूसरी मिलती है आइ.एम.पी.एस(IMPS)

नेट बैंकिंग करने का एक निर्धारित समय रहता है ,बैंक के बर्किंग समय में ही नेट बैंकिंग की जाती है। छुट्टी के दिन कभी नेट बैंकिंग नहीं होती है, और अगर आप किसी को पैसा भेजते हो, तो उसे 2 से 4 घंटे का समय लग जाता है ,पैसा मिलने में। नेट बैंकिंग में आप बड़ा अमाउंट भी ट्रांसफर कर सकते हैं।  2,4 ,10 लाख तक भी आप ट्रांसफर कर सकते हैं। वह आपके बैंक पर डिपेंड है।

आइ.एम.पी.एस (IMPS) आप 24 घंटे कर सकते हो ,छुट्टी के दिन भी आप (IMPS) कर सकते हो, और  जब (IMPS) करते हैं, तो सामने वाले के अकाउंट में तुरंत पैसा ट्रांसफर हो जाता है, पर (IMPS) ट्रांसफर की एक लिमिट रहती है। किसी बैंक की 1 दिन में ₹5000 होती है, किसी बैंक की 1 दिन में 10000, 20000, वह बैंक के ऊपर डिपेंड करता है।

अब हम बात करते हैं ,इंटरनेट बैंकिंग के फायदे और नुकसान  की, तो फायदे आप जान ही गए हैं,  की इंटरनेट बैंकिंग अगर आप ने ले रखी है ,तो बैंक की लंबे लंबे लाइनों में लगने की आपको जरूरत नहीं है। छुट्टी के दिन या रात को ,दिन को जब मर्जी पैसा ट्रांसफर कर सकते है, पैसा रिसीव कर सकते हैं। और अपना अकाउंट बैलेंस जब मर्जी चेक कर सकते हैं। इसके अलावा भी आप ऑनलाइन, शॉपिंग, रिचार्ज, जैसे बहुत सारे सुविधाओं का फायदा ले सकते हैं। दोस्तों फायदे तो बहुत हैं, पर इसके साथ कुछ नुकसान भी है। अगर आप इंटरनेट बैंकिंग (Internet Banking)करते समय कुछ लापरवाही बरतते हैं, तो नुकसान हो भी सकते हैं

पर्सनल लोन क्या है?

दोस्तों अब हम बात करते हैं, कि इंटरनेट बैंकिंग (Internet Banking) करते समय हमें क्या सावधानियां बरतनी चाहिए। जिससे हम सेफ हो सके। इंटरनेट बैंकिंग (Internet Banking) करने से पहले आप अच्छी तरह से आप उसकी प्रैक्टिस कर ले ,आपका कोई  नजदीकी , परिजन, मित्र, हो उससे अच्छी तरह से जानकारी ले ले की इंटरनेट बैंकिंग कैसे करनी है। अगर आपको फिर भी प्रॉब्लम आती है तो मैं आपके लिए उस पर भी एक पोस्ट पब्लिश्ड करूँगा। पर एक प्रॉब्लम यह  भी रहती है ,की बहुत सारे बैंक है, और हर बैंक का इंटरनेट बैंकिंग करने का सिस्टम अलग है। पर फिर भी आप अगर PNBE ICICI बैंक का इंटरनेट बैंकिंग की बात करें तोह उस पर मई एक पोस्ट जरूर लिख दूंगा। दोस्तों जब भी आप  इंटरनेट बैंकिंग करें तो आप कभी भी साइबर कैफे, या पब्लिक प्लेस पर  इंटरनेट बैंकिंग मत इस्तेमाल कीजिएगा। उस समय आपके इनफॉरमेशन लिक होने का खतरा रहता है। कभी भी अपने इंटरनेट बैंकिंग का यूजर आईडी और पासवर्ड किसी को ना बताएं।

इंटरनेट बैंकिंग करते समय एक ही ब्राउज़र एक बार में खोलें ,और अच्छा सा कोई एंटीवायरस  जो है,अपने सिस्टम पर इंस्टॉल करें, इंटरनेट बैंकिंग का पासवर्ड समय-समय पर चेंज करते रहे , और इंटरनेट बैंकिंग (Internet Banking) का पासवर्ड डेट ऑफ बर्थ, नाम, सिटी के ऊपर बिल्कुल भी ना रखें। अपना पासवर्ड बिल्कुल डिफरेंट और यूनीक रखें। और कभी भी इंटरनेट बैंकिंग करने में परेशानी हो या कभी भी आपको  लगे कि आपका सिस्टम हैक हो रहा है, या आपकी गुप्त जानकारी किसी को पता चल गया है, तो आप जल्द से जल्द उस बैंक के कस्टमर केयर,या ब्रांच में संपर्क करें। दोस्तों एक बात का जरूर ध्यान रखिएगा अगर आपको फोन आए कि आप अपना एटीएम कार्ड नंबर बताएं, या पासवर्ड बताएं, या CBB नंबर  बताएं, या,ओ.टी.पी बताएं, तो गलती से भी आप यह इंफॉर्मेशन किसी को बिल्कुल भी मत दीजिएगा। क्योंकि बैंक इस तरह के इनफॉरमेशन आपसे नहीं मांगता है। वो लोग हैकर्स होते हैं ,जो आपके पैसे को चुरा लेते हैं।

सिनेमा कैसे पैसा कमाते हैं?

दोस्तों बहुत सारे लोग यह सोचते हैं, कि इंटरनेट बैंकिंग (Internet Banking) नहीं करनी चाहिए, इसमें खतरा है। दोस्तों खतरा तो हर जगह है, अगर आप बैंक में पैसा निकालने गए हैं, और कोई व्यक्ति आपके पीछे लगा है तो वह आप जब पैसा निकालोगे, तो भी आपके हाथ से पैसा छीन कर ले जाएगा। तो कहने का मतलब यह है ,कि खतरा तो हर जगह बना हुआ है। आप अगर फिजिकली पैसा कैरी करते हो, तो भी खतरा है, और अगर आप इंटरनेट बैंकिंग या ऑनलाइन बैंकिंग करते हैं तो भी खतरा है,  बस जरूरत  है , तो सावधानी बरतने की है। तो दोस्तों हम उम्मीद करते हैं की आपको यह पोस्ट “Internet Banking Benefits and Loss” अच्छा लगा होगा।धन्यवाद॥

If You Like My Post Then Share To Other People
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here