शिव का वो अवतार जिससे सारी दुनिया कांप गई Most Destructive descent of Lord Shiva

Most Destructive descent of Lord Shiva

Most Destructive descent of Lord Shiva:भगवान शिव को महा शक्तिमान और अनंत कहा जाता है उन्हें देवों के देव कहा जाता है क्योंकि उनकी शक्ति के आगे कोई और शक्ति है ही नहीं सकती भगवान शिव को भोलेनाथ की कहा जाता है क्योंकि वह अपने भक्तों के प्रिय से जल्द ही प्रसन्न हो जाते हैं लेकिन जब वह क्रोध में होते हैं तो कोई भी शक्ति उनके सामने टिक नहीं पाते इसी महाशक्ति से भगवान शिव सृष्टि का विनाश भी कर सकते हैं हमारे वेदों और पुराणों में भगवान शिव के अवतारों के बारे में बताया गया है लेकिन उनके सबसे शक्तिशाली और विनाशक अवतार हैं वीरभद्र अवतार तो आज हम बात करने वाले हैं भगवान शिव के ऐसे अवतार Most Destructive descent of Lord Shiva के बारे में जिसकी शक्ति से तीन लोग कांप गए थे

श्री गणेश और परशुराम में युद्ध क्यों हुआ था

दरअसल कथा के अनुसार भगवान शिव का वास पहले से ही कैलाश में था और पृथ्वी लोक पर एक राजा था जिसका नाम दक्ष दक्ष ब्रह्मा का पुत्र था दक्ष की संतानों में से एक सती दी थी सती ने बचपन से ही मन में सोच लिया था कि वह सिर्फ भगवान शिव से ही शादी करेंगे और राजा दक्ष शिव को पसंद नहीं करते थे इसलिए जब सदी का स्वयंवर रखा गया तो सब को बुलाया गया लेकिन भगवान शिव को आमंत्रित नहीं किया गया जबकि सती सिर्फ आपसे ही शादी करना चाहती थी तब सती ने माला हवा में उछली और भगवान शिव से आग्रह किया कि वह अपना लें वह माना शिव के गले में गई इसे देख चाहते हुए भी दक्ष को सती की शादी शुरू से ही करनी पड़ी

इसके कुछ समय बाद राजा दक्ष ने राजमहल में यज्ञ रखा जहां पर सब को आमंत्रित किया गया परंतु शिव को नहीं किया गया जब सती वहां पहुंची तो राजा दक्ष ने भगवान शिव का अपमान किया यह सब देखकर सती ने उस यज्ञ की अग्नि में अपनी आहुति दे दी और जब यह सब भगवान शिव पता चला तब वह गुस्से से भर गए तब उन्होंने अपनी जटा का एक हिस्सा नीचे फेंका और इस तरह एक अवतार का जन्म हुआ जिसे वीरभद्र कहा गया इस अवतार में भगवान शिव की क्रोध की अग्नि थी तब भगवान शिव ने वीरभद्र को राजा दक्ष को मारने को कहा राजा दक्ष को भी यह सब पता चल गया और उसने भी देवी शक्ति वाली सेना भेजी वीरभद्र को रोकने के लिए लेकिन वीरभद्र की क्रोध की अग्नि को रोक पाना असंभव था Most Destructive descent of Lord Shiva

श्री कृष्ण से जुडी कुछ रहस्यमयी बातें

तीनों लोकों में से कोई भी वीरभद्र की शक्ति को रोक नहीं पा रहा था सारी की सारी सेना को वीरभद्र ने कुछ क्षणों में मिटाकर रख दिया उसके बाद देवताओं ने भी वीरभद्र को रोकने की कोशिश की लेकिन इतनी विनाशकारी शक्ति को संभालना असंभव था इस तरह वीरभद्र ने राजा दक्ष का सर धड़ से अलग कर दिया दूसरी तरफ भगवान से भी सती का पार्थिव शरीर लेकर वियोग में तड़प रहे थे और क्रोध से तांडव कर रहे थे

तब भगवान विष्णु ने सुदर्शन चक्र से सती के शरीर के 52 हिस्से  कर दिए और जहां भी सती के शरीर के हिस्से गिरे वहां पर आज शक्तिपीठ हैं तब जाकर भगवान शिव का  क्रोध शांत हुआ तब भगवान शिव भी वैराग्य मुद्रा में चले गए और  वीरभद्र अवतार भी उनमें समा गए इस तरह सब देवताओं ने भगवान शिव की महा प्रलयंकारी शक्ति को महसूस किया जिसके सामने कोई भी टिक नहीं सकता था

रानी पद्मावती (पद्मिनी) का इतिहास

तो दोस्तों आपको हमारा यह पोस्ट शिव का वो अवतार जिससे सारी दुनिया कांप गई Most Destructive descent of Lord Shiva कैसा लगा कमेंट के माध्यम से हमे जरूर बताएं. धन्यबाद॥

Loading...
If You Like My Post Then Share To Other People

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here