Mysterious pyramids found in Antarctica in Hindi

अंटार्टिका के बर्फ में दफन पिरामिड का रहस्य Mysterious pyramids found in Antarctica

>

Mysterious pyramids found in Antarctica: दोस्तों आज हम आपको अपने इस पोस्ट में बताने जा रहे हैं वैज्ञानिकों द्वारा ढूंढे गए रहस्यमई अंटार्कटिका के वर्क में ढूंढे गए एक पिरामिड के रहस्य के बारे में।Mysterious pyramids found in Antarctica

अंटार्कटिका लगभग 1 करोड़ 40 लाख किलोमीटर का बिरान इलाका जहां कि सैकड़ों मीटर की परत चढ़ी हुई है। धरती का 60% पीने लायक पानी इस समय यहां जमा हुआ है। यहां का तापमान – 60 डिग्री सेंटीग्रेड तक पहुंच जाता है। इतिहासकारों का हमेशा से ही यहां रूचि रही है। यहां अब तक जीवन होने की वैज्ञानिकों को कोई सबूत नहीं मिले हैं। इतने सख्त और ठंडे मौसम में रहना बहुत ही ज्यादा मुश्किल है। लेकिन साल 2016 को कुछ रिसर्च ने दावा किया कि उन्होंने अंटार्कटिका में एक प्राचीन पिरामिड ढूंढ निकाले हैं। Mysterious pyramids found in Antarctica

क्या है कैलाश मंदिर की गुफा का राज

इस बार इस रूट के लिए उन्होंने गूगल सेटेलाइट की कुछ तस्वीरों को भी दिखाया जिस में पिरामिड जैसी शेड्स नजर आ रही है। उन्हीं शोधकर्ताओं का दावा था कि यह किसी प्राचीन सभ्यता का काम था, जिसके होने सबूत हमें अब मिल रहे हैं। दरअसल साल 2009 से ही नासा ने सैटेलाइट इमेजिस से धरती के कई हिस्सों को तलाशने का मिशन शुरू किया था।

कई वैज्ञानिकों ने अपने शोध में यह भी पाया कि यह जगह पर किसी समय मानव बस्ती थी, और यहां पर अनाज उगाए जाने के भी प्रमाण जल्दी मिल जाएंगे।

साल 2012 में मेवाड़ा डिजर्ट रिसर्च इंस्टीट्यूट ने अंटार्कटिका पर कई सैंपल्स लिए, और यहां के वैज्ञानिकों ने पाया कि यहां पर किसी समय जीवन मौजूद था।

जर्नलिस्ट क्रिस्टोफर कॉलिंग ने अपने आर्टिकल में यह तक कहा की ऐतिहासिक शहर ‘अटलांटिस’ कहीं और नहीं बल्कि इसी जगह मौजूद था। और प्राकृतिक आपदा के कारण यहां पर सभ्यता का विनाश हुआ।

कई पुरातत्व शास्त्रियों का कहना था कि इस जगह पर मानव सभ्यता थी, पर धरती का मैग्नेटिक सेंटर सिफ्ट होने की वजह से यह जगह रहने लायक नहीं रही। Mysterious pyramids found in Antarctica.

>

एक मंदिर का खज़ाना जिसे सरकार हाथ तक नहीं लगा सकती

हर 12 से 20000 साल में धरती का मैग्नेटिक सेंटर सिफ्ट होता है, और इससे मौसम में जबरदस्त बदलाव आते हैं।

साल 2012 में नासा द्वारा जारी कुछ तस्वीरों में अंटार्कटिका में पिरामिड नजर आने से इस थ्योरी को जबरदस्त बल मिला। इनका आकार पूरी तरह से मानव निर्मित पिरामिड की तरह लग रहा था। अतः इसकी लोकेशन अभी भी Google अर्थ पर मौजूद है। जिसकी लिंक हम अपनी पोस्ट के नीचे दे रहे हैं इस लिंक पर क्लिक करके आप इस पिरामिड की लोकेशन चेक कर सकते हैं।

दोस्तों कांस्पीरेसी थ्योरी का मानना है की सरकार इसे हमसे छिपाने की पूरी कोशिश कर रही है। लेकिन कई जर्नलिस्ट और के वरिष्ठ नागरिक इस पूरी बात को सिरे से नकारते हैं, और वह सिर्फ इसे एक पर्वत ही मानते हैं, जो बर्फ से ढका हुआ है।

इसके सबूत 1910 के ब्रिटिश अंटार्कटिक एक्सपेक्टेशन में भी मिलते हैं। जिसमें की अंटार्कटिका के पिरामिड का जिक्र किया गया था Mysterious pyramids found in Antarctica लेकिन इस फाइल को 100 सालों तक गुप्त ही रखा गया। इसमें भी इसे एक पर्वत ही कहा गया था।

आज भी दुनिया के कई हिस्सों में पिरामिड की शक्ल के पर्वत आपको देखने को मिल ही जाएंगे। यह भी वैसे ही कई पर्वतों की श्रृंखला हैं, जो की बर्फ की चादर से ढकी हुई है। और इस का ऊपरी सिरा बाहर दिखाई दे रहा है। तो कई रिसर्च इसे मानव निर्मित बता रहे हैं, और कई इसे प्राकृतिक बता रहे हैं। दोस्तों आपको इस पिरामिड के बारे में क्या लगता है हमें कमेंट करके जरूर बताएं। धन्यवाद॥

Pyramid Location- यहाँ क्लीक करें

>

Leave a Reply