जानिए पद्मावत फिल्म के बारे में Padmaavat movie review in Hindi

Padmaavat movie review in Hindi

Padmaavat movie review in Hindi:दोस्तों आज हम अपने इस पोस्ट में बता रहे हैं आपको इस हफ्ते रिलीज हुई फिल्म पद्मावत के बारे में….

फिल्म पद्मावत के लीड रोल में है शाहिद कपूर, दीपिका पादुकोण और रणवीर सिंह और इस फिल्म का डायरेक्शन किया है संजय लीला भंसाली ने फिल्म 1300 ईस्वी  की है जब जलालुद्दीन यानी कि रजा मुराद दिल्ली को जीतने का प्लान बना रहा था और उसके इस में मनसूबे को पूरा करता है उसका भतीजा अल्लाउद्दीन खिलजी यानी कि रणवीर सिंह अलाउद्दीन खिलजी दिल्ली जीतने के साथ ही जलालुद्दीन की बेटी से शादी कर लेता है और साथ ही साथ उसे मारकर सुल्तान की गद्दी भी हासिल कर लेता है वहीं दूसरी ओर चित्तौड़ के राजा महारावल रतन सिंह, सिंगल राज्य की राजकुमारी पद्मिनी से विवाह कर लेते हैं फिल्म में कुछ माहौल बदलता है और अलाउद्दीन खिलजी को रानी पद्मिनी के खूबसूरती के बारे में पता चलता है और ओ रानी पद्मिनी को पाने के लिए सारी हदें पार करने को तैयार हो जाता है दोस्तों फिल्म की आगे की कहानी का इंटरेस्ट बना रहे इसलिए आप खुद फिल्म जा कर देखिए… Padmaavat movie review in Hindi

फिल्म ‘हम आपके है कौन’ से जुड़ी कुछ अनसुने फैक्ट्स

इस फिल्म Padmaavat movie review in Hindi में एक्टिंग की बात करें तो रणवीर सिंह आपको इस फिल्म में सबसे ज्यादा इंप्रेस करेंगे यह फिल्म उन के फिल्मी करियर में माइलस्टोन साबित होगी, एक क्रूर, मौकापरस्त चालाक, आयास और साहसी शासक के किरदार को उन्होंने जबरदस्त तरीके से निभाया है रियल लाइफ में रणवीर सिंह जैसे फुर्तीले और पैशनेट है इस फिल्म में भी वह इसी तरह से नजर आते हैं इस फिल्म का स्क्रीन प्रजेंट लाजवाब है उनका उठना चलना, बोलना हर चीज देख कर आपको उनकी इस फिल्म में की गई मेहनत का एहसास होगा एक सनकी आशिक और शासक का यह किरदार आपको सालों तक याद रहेगा

दीपिका पादुकोण की बात करें तो जिस तरह से संजय लीला भंसाली ने उनके व्यक्तित्व को पर्दे पर दिखाने की कोशिश की है उसमें वह शत-प्रतिशत खरी उतरी है पूरी फिल्म के दौरान उनके चेहरे पर एक तेज नजर आता है फिर वह चाहे शाहिद कपूर की एक प्रेमिका के रूप में हो या फिर उनकी पत्नी के रूप में वह ज्ञान की बातें कर रही हो या फिर सौर्य की हर सीन में वह अच्छी और लाजवाब लगी है उनका किरदार एक गंभीर महिला का है जो किसी भी सिचुएशन में अपने चेहरे पर ज्यादा बदलाव नहीं आने देती है

शाहिद कपूर भी महारावल रतन सिंह के किरदार में अपनी छाप छोड़ते नजर आते हैं पहले एक प्रेमी के तौर पर फिर एक पति के तौर पर उसके बाद एक गंभीर शासक के तौर पर वह अपने किरदार के साथ पूरी तरह से न्याय करते हैं

जिम सरभ को मैं इस फिल्म Padmaavat movie review in Hindi का सरप्राइज पैकेज कहूंगा उन्होंने इस फिल्म में अपने पहले से ही से ही जो इंप्रेशन बनाया उसे फिल्म के लास्ट तक कायम रखा उन्हें जो अलाउद्दीन खिलजी के लिए चाहत है उन्हें आप महसूस करेंगे भले ही उसे डायलॉग के माध्यम से नहीं बोला गया है शायद अच्छा और लाजवाब डायरेक्शन इसे ही कहते हैं

फिल्म पद्मावत को एक बड़े स्केल पर शूट किया गया है कहीं पर भी फिल्म खाली नजर नहीं आता है साथ ही साथ इस फिल्म में आपको जबरदस्त आर्ट-1 देखने को मिलेगा ऐसे भी संजय लीला भंसाली की फिल्मों का USB है उनका आर्ट-1 और लाइटिंग इसके साथ ही वह फिल्म भी बहुत कलरफुल बनाते हैं इस फिल्म में कुछ अच्छे डायलॉग हैं जो आपको याद रहेंगे इस फिल्म में कुछ ऐसे सीन भी है जो आपके चेहरे पर मुस्कुराहट लाएंगे और साथ ही साथ यहां पर मैं मेकअप आर्टिस्ट का जिक्र भी जरूर करना चाहूंगा फिर चाहे वह रानी पद्मिनी का मेकअप हो या फिर अलाउद्दीन खिलजी का मेकअप हो साथ ही साथ इस फिल्म का BF X भी अच्छे लेवल का है फिल्म का म्यूजिक ठीक-ठाक है, ठीक-ठाक मैं इसलिए कह रहा हूं क्युकी संजय लीला भंसाली के फिल्मों में म्यूजिक का एक बहुत बड़ा योगदान होता है लेकिन उनकी पिछली फिल्मों के मुकाबले इस फिल्म Padmaavat movie review in Hindi में म्यूजिक थोड़ी कम है

पद्मावत Padmaavat movie review in Hindi फिल्म की टोटल लेंथ लगभग 2 घंटे 45 मिनट की है मेरे हिसाब से एडिटिंग को थोड़ा और टाइट किया जा सकता था और इस फिल्म में से 15 मिनट के करीब और घटाया जा सकता था इस फिल्म का कई सीन में दीपिका पादुकोण की आंखों में भर भर कर आंसू दिखाया जाता है जो कि सिर्फ लास्ट के सीन में जाकर बाहर आता है बाकी के सीन में क्यों आंसू उनकी आंखों में भरे रहते हैं यह थोड़ा अजीब है जबकि सीन भी कोई इमोशनल नहीं होता है हो सकता है इसके पीछे कोई लॉजिक हो लेकिन पब्लिक को उनका लॉजिक समझ में ही ना आए तो ऐसे लॉजिक का क्या फायदा

बॉलीवुड के 5 सबसे महंगे अभिनेता

इस फिल्म के लोकेशन की बात करें तो इस फिल्म में किले को ही इतने शानदार और खूबसूरत तरीके से दिखाया गया है कि नदी-नाले, झरने, पहाड़ की जरूरत ही नही पड़ती क्योंकि यह फिल्म बहुत विवादों में रही है तो हम उस बारे में भी थोड़ा सा बात कर लेते हैं जैसा कि हमने आपको अपने पिछले पोस्ट में भी बताया था संजय लीला भंसाली ने हो सकता है कि पहले कुछ आपत्तिजनक सीन रखे हो लेकिन इस बवाल के बाद उस सीन को फिल्म से हटा दिया गया था लेकिन सिर्फ फिल्म का प्रमोशन हो और फिल्म कंट्रोवर्सी में जाए इसके लिए करणी सेना को यह फिल्म नहीं दिखाई जा रही थी जबकि इस फिल्म में ऐसा कुछ भी नहीं है जो आपत्तिजनक हो

जब आप यह फिल्म देखेंगे तो आप वह सीन ढूंढेंगे जिसके लिए इतना विवाद उठा लेकिन ऐसा कोई सीन आपको नहीं मिलेगा लेकिन फिर भी आप राजपूतों की नजरिए से यह फिल्म देखेंगे तो कहीं ना कहीं आपको फील होगा कि डायलॉग के माध्यम से तो राजपूतों को काफी ऊचा दिखाया गया है लेकिन कुछ एक ऐसे सीन हैं जहां पर राजपूतों को डरा और सहमा दिखाया गया है अगर इतिहास में ऐसा ही है तब तो ठीक है लेकिन ऐसा नहीं है तो फिल्म को फिर से दिक्कतें हो सकती है

पर इसके अलावा इस फिल्म में ऑब्जेक्शन करने लायक कुछ भी नहीं है अलाउद्दीन खिलजी पद्मावती को दो 3 सेकंड के लिए आईने में देखता है और इसके अलावा उन दोनों ने कहीं पर भी स्क्रीन शेयर नहीं किया है अर्थात दोनों को एक साथ नहीं दिखाया गया है

घूमर सॉन्ग में जब रानी पद्मावती डांस करती है तो बाकी औरतों के अलावा सिर्फ उनके पति वहां पर मौजूद होते हैं और कोई भी दूसरा मर्द वहां पर नहीं होता है

तो दोस्तों जाइए और एंजॉय कीजिए त्याग, बलिदान, सौर्य और साहस से भरी इस फिल्म को… Padmaavat movie review in Hindi

और दोस्तों आपको हमारा पोस्ट Padmaavat movie review in Hindi कैसा लगा आपने कमेंट के माध्यम से हमें जरुर बताइए धन्यवाद

If You Like My Post Then Share To Other People

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here