ईस्टर आइलैंड का रहस्य The Mystery Of Easter Island in Hindi

The Mystery Of Easter Island in Hindi

The Mystery Of Easter Island:दोस्तों आज टेक्नोलॉजी के समय में हम सब को धरती छोटी लगने लगी है। लेकिन अब भी कई ऐसी जगह हैं जो पूरी दुनिया से अलग-थलग पड़ी हुई है। और उससे जुड़ी रहस्य भी अपने दामन में अपने रहस्य को समेटे जस की तस पड़ी हुई है। ऐसे ही जगहों पर कई अनसुलझे रहस्य भी दफन हैं, ऐसा ही एक रहस्य है ईस्टर आइलैंड का रहस्य(Mystery Of Easter Island)

कैलाश पर्वत अंदर से खोखला है?

यह आयरलैंड दक्षिण पेसिफिक सागर में स्थित है। यह आइलैंड 15 मील लंबा और 10 मील चौड़ा है। यह आयरलैंड दुनिया से बिल्कुल अलग थलग पड़ा है क्योंकि इसके पास जो आयरलैंड है वह इस से करीब 1400 मील की दूरी पर स्थित है। और वहां भी कोई नहीं रहता चिली के तट पर लोग रहते हैं और वो भी इस से 2500 मील दूर है।

इस रहस्यमई आयरलैंड(Mystery Of Easter Island) पर कई रहस्य दफन है। जिसमें वैज्ञानिकों की तरफ से इससे जुड़े आधे रहस्य को को सुलझाने का दावा किया गया है और बाकी आज भी सबकी समझ से बाहर है। दरअसल इस आयरलैंड की आबादी 6000 के करीब है। लेकिन इस आइलैंड पर विशाल पत्थरों के सर पाए गए, इन पत्थरों के बनाए गए सर की उचाई करीब 40 फीट से ज्यादा थी। 1722 ईस्वी में जब इस आइलैंड की खोज हुई, तो इस आइलैंड पर मौजूद इन मूर्तियों ने सबको हैरान करके रख दिया था, सब सोच में पड़ गए थे कि केवल सर बनाने का क्या कारण था और इन्हें बनाया क्यों गया?

इन पत्थरों की मूर्तियों को जिन पत्थरों से बनाया गया था वह किसी ज्वालामुखी के ठंडे लावे से ही बन सकते थे। लेकिन ऐसे पत्थर यहां लाए कैसे गए? और इस वीरान और रहस्यमई आइलैंड पर ही इस तरह की मूर्तियों का निर्माण क्यों किया गया? कुछ ही साल पहले वैज्ञानिकों ने इससे जुड़े कुछ गुत्थियों को सुलझाने का दावा किया, इन मूर्तियों के बड़े सर के नीचे खुदाई करने पर इनके शरीर भी पाए गए। लेकिन इससे और भी बड़ा सवाल पैदा हो गया कि इसे मिट्टी में क्यों दबाया गया? जवाबों से ज्यादा यहां पर सवाल खड़े हो रहे थे। इस आइलैंड(Mystery Of Easter Island) की भाषा भी पूरी दुनिया से बिल्कुल अलग थी, इस रहस्यमई आयरलैंड के पुराने कब्रों से डीएनए(DNA) सैंपल लिए गए तो, यह अमेरिकी लोगों से बिल्कुल भी मेल नहीं खाते थे। तो इसका मतलब यह कि यहां के मूल निवासी अमेरिकी नहीं थे। बल्कि वह इनिशियन  थे. जो की प्राचीन एशिया से संबंध रखते थे। सोचने की बात है कि आखिर इतनी बड़ी आबादी इतनी दूर कैसे पहुंच गई? और वह भी यूरोपियन से हजार साल पहले..

शिव का रहस्यमई मंदिर, जिसे देख वैज्ञानिक भी हैं हैरान

प्राचीन लेखकों ने भी लिखा है कि इस आइलैंड(Mystery Of Easter Island) पर पुराने समय में लोग रहा करते थे, लेकिन यह छोटा सा आयरलैंड ज्यादा खाना नहीं पैदा कर सकता था इसलिए इसे अलग-थलग कर दिया गया। इस आइलैंड पर स्वीट पोटैटो ही लगाया जाता था जबकि यह तो अमेरिकी पैदावार थी। और पूरी दुनिया में भी बहुत देर बाद मिली तो यहां पर आना तो बेहद ही मुश्किल था।

आज भी छोटा सा रहस्य सुलझा कर इस से पीछा छुड़ाया जा रहा है, लेकिन ऐसे रहस्य इशारा करते हैं कि, प्राचीन समय में बहुत ही आधुनिक तकनीक थी, जो अब लुप्त हो चुकी है। और ऐसे पुख्ता सबूत इसे सच साबित करते हैं।

If You Like My Post Then Share To Other People

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here